messages


Dil ke dareeche se

Dil ke dareeche se
Dekhne waale ko bhi kya na dikha hoga
Uss mohabbat ke aasmaan mein
Ashkon ke baadal ka pata hoga

दिल के दरीचे से
देखने वाले को भी क्या ना दिखा होगा
उस मोहब्बत के आसमान में
अश्कों के बादल का पता होगा

Naye sire se nayi falak par nayi udane

Naye sire se nayi falak par nayi udane bharta hai ye dil
Bhula chuka ha duniyadari, nayi dagar pe chalta ha ye dil,
Pankh nahi hai phir bhi nayi ummedo ke sahare udta hai ye dil,
Dard paraye hai phir bhi sare gam chupake sabse ache se milta ha ye dil …

नये सिरे से नयी फलक पर नयी उड़ाने भरता है ये दिल
भुला चुका हैं दुनियादारी, नयी डगर पे चलता हैं ये दिल,
पंख नही है फिर भी नयी उम्मीदों के सहारे उड़ता है ये दिल,
दर्द पराए है फिर भी सारे गम छुपाके सबसे अच्छे से मिलता है ये दिल

Sirf gulab dene se agar

Sirf gulab dene se agar
Mohabbat ho jati
To malli saare “shahar” ka
Mahboob ban jata ..
सिर्फ गुलाब देने से अगर
मोहब्बत हो जाती
तो माली सारे शहर का
महबूब बन जाता ..

Yaad teri jab aati hai

Yaad teri jab aati hai ..!
Kya batayein kya haal hota hai
Ek bechaini si dil pe chaati hai
Ek tujhe hi ye ehsas nahi hota Jana
Ki ye dil lut jane ki nishani hai ..

याद तेरी जब आती है
क्या बताएं क्या हाल होता है
एक बेचैनी सी दिल पे छाती है
एक तुझे ही ये एहसास नहीं होता जाना
की ये दिल लूट जाने की निशानी है

madhumakkhi ka shahad to koi bhi…

madhumakkhi ka shahad to koi bhi la sakta hai
Par uska shahad banane ka talent koi nahi cheen sakta
Aadarneey patniyo,
Theek usi prakar
Apke chupe hue paiso ka nuksan hua hai
Tailent ka nahi
Phir se jama ho jayenge   🙂 …

मधुमक्खी का शहद तो कोई भी ला सकता है
पर उसका शहद बनाने का टैलेंट कोई नही छीन सकता…
आदरणीय पत्नियो,
ठीक उसी प्रकार
आपके छुपे हुए पैसो का नुकसान हुआ है
टैलेंट का नही
फिर से जमा हो जाएँगे 🙂 …

Meri ye adat tujhe zaroor yaad rahegi

Meri ye adat tujhe zaroor yaad rahegi
Na koi matlab … Na koi gila
Jab bhi mila muskura ke mila …

मेरी ये आदत तुझे ज़रूर याद रहेगी
ना कोई मतलब … ना कोई गिला
जब भी मिला मुस्कुरा के मिला …

Wo kehta tha tumhari muskurahat bahut haseen hai

Wo kehta tha tumhari muskurahat bahut haseen hai
Kehta to wo theek tha isliye shayad
Wo apne sath meri muskurahat bhi le gaya …

वो कहता था तुम्हारी मुस्कुराहट बहुत हसीन है
कहता तो वो ठीक था इसलिए शायद
वो अपने साथ मेरी मुस्कुराहट भी ले गया …

Main sb kuch bhool sakta hu

Main sb kuch bhool sakta hu
Siwaye un lamho ke
Jb mujhe zaroorat thi unki
Aur wo maujood nahi the …

मैं सब कुछ भूल सकता हू
सिवाए उन लम्हो के
जब मुझे ज़रूरत थी उनकी
और वो मौजूद नही थे …

Apni sanso me koi basata nahi

Apni sanso me koi basata nahi
Ashk Ankho se koi bahata nahi
Mann ke mandir me koi basa le mujhe
Ab to aisa nazar koi aata nahi
Raat bhar jag ke koi jagata nahi  (more…)

Zulfe Teri bikhri bikhri aur Anchal bhi sar se sarka

Zulfe Teri bikhri bikhri aur Anchal bhi sar se sarka
Dekh ke tera yaovan gori tb dil mera bhi behka

ज़ूलफ़े तेरी बिखरी बिखरी और आँचल भी सर से सरका
देख के तेरा यौवन गोरी तब दिल मेरा भी बहका