hindi-shayari


तस्कीन तो हो जाती

तस्कीन तो हो जाती, उम्मीद तो बंध जाती ।
वादा न वफ़ा करते, वादा तो किया होता ।

Ummid to bndh jati, taskin to ho jati…
Wada na wafa krte, wada to kiya hota…

Muqammal ho

Muqammal ho jayega

mere ishqka safar…

jab sukoon tera tanhaniyon se

nikal kar karega

meri bahon me basar…..

Samandar ke kinare

Samandar ke kinare

aabadi nahi hoti…

Jissse pyaarho jaye

usse shaadi nahi hoti…

मुझसे नफरत करके भी खुश ना रह पाओगे,

मुझसे नफरत करके भी खुश ना रह पाओगे,
मुझसे दूर जाकर भी पास ही पाओगे ,
प्यार में दिमाग पर नहीं दिल पर ऐतबार करके देखिये ,
अपने आप को रोम – रोम में बसा पाएँगे।

होंठो ने मुस्कुराने से मना कर दिया..

होंठो ने मुस्कुराने से मना कर दिया..
आंसुओं ने बह जाने से मना कर दिया..
एक बार जो दिल टूटा प्यार में..
फिर इस दिल ने दिल लगाने
से मना कर दिया..

Dil ki choton ne kabhi chain se rahne na diya

dil ki choton ne kabhi chain se rahne na diya
jab chali sard hawa main ne tujhe yaad kiya
is ka rona nahi kyon tum ne kiya dil barbaad
is ka gham hai ke bahut dair mein barbaad kiya

hum ko kis ke ghum ne mara ye kahani phir sahee
kis ne toda dil hamara ye kahani phir sahee

dil ke lutnay ka sabab poochho na sabke saamne
naam aayega tumhara ye kahani phir sahee

nafraton ke teer khakar doston ke shehar main
hum ne kis kis ko pukaara ye kahanai phir sahee

kya bataayen pyaar ki baazi wafa ki raah mein
kaun jeeta kaun haara ye kahani phir sahee

न मिलता गम तो बर्बादी के अफ़साने कहा_जाते,

hindi-sad-shayari@smsduniya

न मिलता गम तो बर्बादी के अफ़साने कहा_जाते,
दुनिया अगर होती चमन तो वीराने कहा_जाते,चलो!
ाचा हुआ अपनों में कोई गैर तो निकला,
सभी अगर होते अपने तो बेगाने कहा_जाते…

Nafratein Lakh Mili Par Mohabbat Na Mili

sad-shayari-images@smsduniya

Nafratein Lakh Mili Par Mohabbat Na Mili,
Zindagi Beet Gayi Magar Rahat Na Mili,
Teri Mehfil Mein Har Ek Ko Hansta Dekha,
Ek Main Tha Jise Hasne Ki Ijazat Na Mili.

 

नफरतें लाख मिलीं पर मोहब्बत न मिली,
ज़िन्दगी बीत गयी मगर राहत न मिली,
तेरी महफ़िल में हर एक को हँसता देखा,
एक मैं था जिसे हँसने की इजाज़त न मिली।

रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हमने

hindi-sad-shayari@smsduniya

रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हमने,
कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,
हमें मालूम है क्या चीज़ है मोहब्बत यारो,
घर अपना जला कर किये हैं उजाले हमने।

मंजिल भी उसी की थी रास्ता भी उसका था

hindi-sad-shayari@smsduniya

मंजिल भी उसी की थी रास्ता भी उसका था,
एक हम अकेले थे काफिला भी उसका था,
साथ साथ चलने की कसम भी उसी की थी,
और रास्ता बदलने का फैसला भी उसका था।