hind sad status


ज़िन्दगी है नादाँ इसलिए चुप हूँ,

ज़िन्दगी है नादाँ इसलिए चुप हूँ,
दर्द-ही-दर्द सुबह शाम इसलिए चुप हूँ,
कह दू ज़माने से दास्ताँ अपनी,
उसमे आएगा तेरा नाम इसलिए चुप हूँ.

अब नींद आए कब नींद आए

hindi-sad-shayari@smsduniya

अब नींद आए कब नींद आए
करवटें बदल कर रात गुज़ार दी मैंने
शायद वो फिर आएँगे लौट के
शब-ऐ-फ़िराक़ यही सोच कर गुज़ार दी मैंने