dard e dil ki shayari in hindi


फेर लेते हैं नज़र, दिल से भुला देते हैं,

फेर लेते हैं नज़र, दिल से भुला देते हैं,
क्या यूँ ही लोग वाफ़ाओं का सिला देते हैं,
वादा किया था फिर भी ना आए मज़ार पर,
हमने तो जान दी थी इसी ऐतबार पर!!

Hum ishq ke us mukam pe

Hum ishq ke us mukam pe khare ha…

Jahan dil kisi aur ko chahata ha…

To gunah sa lagta ha…

हम इश्क़ के उस मुकाम पे खड़े है…

जहाँ दिल किसी और को चाहता है…

तो गुनाह सा लगता है …