अब नींद आए कब नींद आए

hindi-sad-shayari@smsduniya

अब नींद आए कब नींद आए
करवटें बदल कर रात गुज़ार दी मैंने
शायद वो फिर आएँगे लौट के
शब-ऐ-फ़िराक़ यही सोच कर गुज़ार दी मैंने

अब नींद आए कब नींद आए was last modified: June 21st, 2018 by komal