गुजारिश हमारी वह मान न सके,

dard-shayari@smsduniya

गुजारिश हमारी वह मान न सके,
मज़बूरी हमारी वह जान न सके,
कहते हैं मरने के बाद भी याद रखेंगे,
जीते जी जो हमें पहचान न सके

गुजारिश हमारी वह मान न सके, was last modified: April 28th, 2018 by komal